Wednesday, April 14, 2021
A famous Hindi Shayari By Munawwar Rana,  Wo Khush hai... वो ख़ुश है कि बाज़ार में गाली मुझे दे दी मैं ख़ुश हूँ एहसान की क़ीमत निकल आई ~ मुनव्वर राना Wo Khush Hai ki Bazaar Me Gaali Mujhe De DiMein Khush...